सेक्सी ऑडियो हिंदी में

गांड मारते दिखाओ

गांड मारते दिखाओ, इस बार मैंने उसे बिस्तर पर एक करवट लिटा कर चोदना शुरू किया, इस मुद्रा में मेरा लंड आयशा के बहुत अंदर तक जा रहा था और हर बार अंदर जाने पर आयशा ऐसे चीख रही थी मानो उसे बहुत दर्द हो रहा हो जबकि मैं जानता था वो इस सबका मजा ले रही है. कब वो अपने होंठ सतीश के होंठो के पास लाती है, दोनों एक दूसरे की आँखों मे झाकते है.... और फिर भारती की पलके बंद हो जाती है और वो अपने होंठ सतीश के होंठो की और बड़ा देती है, दोनों के होंठ किसी भी समय एक हो सकते थे.....

तुम मेरे लंड पर तेल लगा कर अपने हाथ में लेकर हिलाने लगी. कुछ देर बाद मैने तुम्हे अपने सामने नीचे बैठाया और तुम से लंड चूसने को कहा. मैंने उसे और जोर से चूसना शुरू कर दिया दूसरी तरफ ईशा आनन्द के मारे मेरे लंड को चूस ही नहीं पा रही थी पर मैं उसकी चूत को जीभ से चाट रहा था.

शमशेर - अरे वाह।। ये तो अच्छी बात है। आज़कल तो सबलोग फेसबुक पे भी बातें और फोटो अपलोड करते हैं न। तुम्हारी फोटोज हैं फेसबुक पे। गांड मारते दिखाओ Wo usko dekh kar ghabra jati hai ki ye yha par kya kar rha hai. Aur waha se chalne ka karti hai par jab wo dekhti hai uski taraf toh wo smile kar deta hai.

सेक्सी वीडियो छोटे बच्चे वाली

  1. ये जंगल खत्म क्यों नहीं हो रहा, यहाँ जरूर कुछ गड़बड़ है, मुझे मुख्तार साहब से मिलना ही होगा, उन्हें सब कुछ बताना होगा, यहाँ पे कुछ है जो ठीक नहीं हो रहा है
  2. सरोज - मुझे इसकी आदत नहीं है पापा, मेरी साँस फुल रही है, देखिये कितना हांफ रही हू। ( सरोज ने करवट लेते हुए अपने गाल से पसीना पोंछते हुए कहा। ) जनरल बिपिन रावत की सैलरी
  3. सुखजीत हरपाल की बात सुनकर बहुत खुश हो जाती है और कहती है- ये तो बहुत खुशी की बात है, कब हुआ वैसे रिश्ता? अब शिला ने भी अपनी गांड उठा उठा कर मज़ा लेना शुरू कर दिया था. मैंने भी वहां ज्यादा देर रुकना सही नहीं समझा और गाड़ी को फिर से एक्सप्रेस-वे पर डाल दिया. मैं ऐसी दौड़ती हुई धमाकेदार चुदाई पहली बार कर रहा था और शिला भी बहुत कामुक थी.
  4. गांड मारते दिखाओ...एक दिन मैं कॉलेज में था कि मेरे पास रमेश अंकल(ईशा की आंटी के पति) का फोन आया, वो मुझसे बोले- तू है कहाँ यार? इतने दिन से दिखा नहीं, यह बता कि घर कब आने वाला है? बलविंदर तभी देखता है, की दारू के साथ मीट खतम हो गया है। वो तभी बोला की चरणजीत को बुलाओ की मीट और लेकर आए। चरणजीत का नाम सुनते ही मीते के कान खड़े हो जाते हैं, और तभी वो बोला।
  5. अपना मुट्ठ निकाल कर मुझे बहुत सन्तुष्टि मिली ।शायद समधी जी ने भी कभी नहीं सोचा था की वो अपनी बेटी को इस तरह चोद पाएंग़े। बहु उत्तेजित हो कर हम दोनों का मुट्ठ चाट रही थी। सरोज - मैं ये सब सामान कपबोर्ड में लगा देती हूँ ( बहु सारे सामान रखने लगी।। अपने पापा के सामान अंडरवियर वगैरह भी)

पांढरा कावीळ ची लक्षणे

Pinki sex ke nashe me boli – Tottan de aur kab tak sambhal kar rkhegi wo, aur wese bhi ye bani hi hai toten ke liye. Tu abhi mujhe chod naa jaan.

अब मुझे उनकी जवानी पर तरस आ रहा था और अब मैंने उसी पल सोच लिया था कि में ही उन दोनों की चूत का उद्घाटन करूँगा और में उधर से ध्यान हटाकर लंड चुसवाने का मज़ा लेने लगा. अब बुआ और चाची बहुत ही अलग अंदाज से मेरा लंड चूस रही थी. Fir Meeta uth kar pani peene ke liye chala jata hai, aur Sukh apne kapade dal kar apne room me sone ke liye chali jati hai. Fir Meeta pani pee kar vapis room me aata aur Channi ko pura nanga karke wo use 4 baar jam kar chodta hai.

गांड मारते दिखाओ,अगर उनकी जगह कोई और होती तो मैं तो कभी का खुशी खुशी राजी हो जाता पर बात यहाँ आंटी की थी और मुझे आंटी से ज्यादा अंकल के विश्वास की चिंता थी जो मेरे लिए अंकल कम और दोस्त ज्यादा हैं, और दोस्ती में धोखेबाजी की आदत मुझे कभी भी नहीं रही.

सभी भाई लोगों को पता होगा कि चुदाई के समय जब लड़की रोती है, तो आदमी को किस अप्रतिम आनन्द की अनुभूति होती है.

मुझे इस बात पर गुस्सा आ रहा था कि खुद तो जाने कितनी बार झड़ चुकी हैं और मुझे अभी भी बाँध कर पटक रखा है, मैंने कहा- आंटी उठो !తెలుగు హాట్ మూవీస్

श्वेता इमैजिन कर रही थी कि वह पुल-अप बार से लटकी है. उसका भाई उसके गांड पर जोर-जोर से कौड़े बरसा रहा है. श्वेताने अपने दाँत भींच लिए. प्रोग्राम में आए हुए सब लोग बहुत खुश होते हैं। क्योंकी क्लब गरीब लोगों के भले के लिए इतना काम कर रहा था। एम.एल.ए. भी खुश होता है, वो सुखजीत को देख-देखकर इनाम बच्चों को दे रहा होता है। सुखजीत भी एम.एल.ए. को देख-देखकर बार-बार स्माइल पास कर रही होती है।

काफी सारे आदमी वहां लगे हुए थे काम में, कोई पेड़ काट रहा था तो कोई एक तरफ खुदाई कर रहा था, कोई मिट्टी उठा उठा के ट्रक में डाल रहा था, सब अपना काम कर रहे थे, कोई उस आधे घने जंगल में काम कर रहा था, जहाँ काफी कम पेड़ बचे थे, तो कुछ लोग एक कुछ खुदायी का काम कर रहे थे …

Ab sukh bhi chudai ka khoob maja le rho hoti hai. Wo toh jese pagal ho rhi hoti hai. Pyare lal uski choot Ko ab jor jor chodne lag jata hai. Aur sukh bhi abhi ahahhh karti hui pure maje leti hai aur paed ko pakad kar khoob chudwati hai.,गांड मारते दिखाओ ओर सतीश अपने हाथ उसके स्तनो से हटाने लगता है तभी सोनाली उसके हाथ अपने हाथो से पकड़ कर अपने स्तनो पर रख देती है और अपने हाथो से उसके हाथ को अपने स्तन को मसलवाने लगती है....

News