सेक्सी व्हिडिओ मराठी मराठी

तोंडात फोड येणे कारणे

तोंडात फोड येणे कारणे, मनु थोड़ा उपर उठ कर तेज साँसों पर उपर नीचे होती उसकी चुचियों को अपनी भूखी नज़रों से देखा. दोनो पाँव को पूरा फैला दिया. तनु की कमर पर दो तकिया लगा कर उसकी योनि को हवा मे किया.... दो उंगली योनि के लिप मे फसा कर उसे खोल बाबू: चाचा आज तक कभी कुछ आपकी मर्ज़ी के खिलाफ कुछ किया है क्या जो आज करूँगा. आपको बाबू अपने बाबू पर इतना भी भरोसा नहीं रहा.

घर का नाम सुनते ही स्नेहा को अपने पापा का चेहरा याद आ गया... और पापा का चेहरा याद कर के ही कांप गयी..... नही अभी उन्हे कुछ भी पता नही है. अब अंजलि को भी यूँ चुदाई के टाइम बाते करना पसंद आ रहा था क्यूँ कि देव तो कभी अंजलि से चुदाई के टाइम बाते करता नहीं था.

रजत.... देखा आख़िर इस नाजायज़ ने अपनी औकात दिखा ही दिया.... मैं शुरू से जब चिढ़ता था इस पर तो मुझे ही थप्पड़ मारे गये... अब चलो यहाँ से... मुझे नही रहना किसी के अहसान के तले.... तोंडात फोड येणे कारणे काया.... हुहह ! मुझे कुछ नही सुन'ना, आप मुझे यहाँ आधे घंटे मे फ्रेश हो कर मिलो, बससस्स .. नो आर्ग्युमेंट .....

महाराष्ट्रात मान्सून कधी येणार

  1. थोड़ी ही देर मे काया, केशव के दरवाजे पर थी, केशव दरवाजा खोल कर काया को अंदर बिठाया और फ्रिड्ज से वोड्का की एक बॉटल निकाल लिया... केशव पॅक बना कर सर्व करते हुए पुच्छने लगा.... सो इस खुसूरत सी बला को किसने परेशान कर दिया....
  2. मैं- 'वो अभय सर यहाँ नहीं हैं, वो मेरे बॉस हैं और मेरे ही कहने पर उन्होंने यह घर दो दिन के लिए दिया था और खुद आपके पास जाने को बोले। उन्हें भी नहीं पता कि हम लोगों ने इस लिये लिया है।' राजस्थानी बीएफ सेक्सी जबरदस्ती
  3. दोनो के कमर ने जैसे एक साथ रफ़्तार पकड़ी हो. धक्कों की रफ़्तार बढ़ती ही चली गयी थी. हर धक्कों मे ऐसा आनंद, उफफफफफ्फ़ दोनो के बदन बिल्कुल मचल रहे थे. कभी ख़तम ना हो ये पल ऐसा लग रहा था. और फिर दोनो एक चरम पर पहुँचे.... मानस..... मोम आप मायूस क्यों होती हैं. हम आप के बच्चे हैं, हमे काट भी दोगि तो गम नही, पर मर तो तब गये जब आप ने कहा हम आप के बच्चे नही
  4. तोंडात फोड येणे कारणे...थोड़ा सा मुंह बनाते हुये बोली- अभी भोसड़ी के मुझे मूतता हुआ देखना चाहता था और अब लौड़े की मेरे मुंह में ही मूत रहा है। मैं दीपाली की तरफ देख कर बोली- मैम, यहाँ हम लोगों को एक को एक का लंड मिला है और आप खुशकिस्मत हो कि आपके खेत को चोदने के लिये चार चार लंड तैयार हैं। उसके बाद हम औरतें दीपाली को छोड़कर अलग हो गई और चारों मर्द दीपाली के पास आ गये।
  5. तेज सिसकारी के साथ, मनु ने स्नेहा के सिर को अपने लिंग पर दबा दिया.... और कमर से तेज-तेज झटके देने लगा...... पूरा कम स्नेहा के मूह मे उडेल दिया... जो मूह के साइड से लार के साथ निकलने लगा.... इस समय वेटर की आँख में थोड़ी सी चमक थी, वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुराने लगा और अपने खड़े लंड को जो उसके लोअर से साफ दिखाई पड़ रहा था, को अपने हाथ से दबाते हुए बोला- मेम साब थैंक यू। क्या मैं भी कपड़े उतार सकता हूँ?

ओन्ली राजस्थानी सेक्स

ट्रेन चलती रही, और स्नेहा गुस्से मे खिड़की के बाहर देखती रही. धीरे-धीरे शाम भी होने लगी. सर्द हवाओं ने स्नेहा को हल्की ठंड का एहसास करवाया, वो थोड़ी सिकुड कर बैठ गयी....

नमिता तुरन्त बोली- मैं उतारने क्यों जाऊँ? यही उतार लेती हूँ, अमित मेरी पैन्टी और ब्रा रख कर आ भी जायेगा और साथ ही लोअर पहन कर चला आयेगा। नताली.... जी नही, उन्होने बहुतों का नाम लिया था, पर आक्षन केवल मेरे पापा पर. जानती हूँ मैं, कि तुम सब ने मिल कर उन्हे फसाया है...

तोंडात फोड येणे कारणे,मैं नमिता के बोलने से पहले ही बोल पड़ी- जीजू, गफलत में मत पड़ो, तुम दो चूत को देख सकते हो लेकिन चूत केवल नमिता की चोद सकते हो।

फिर सूरज ही बोला- भाभी, कई लड़कियों के चूत को मेरे इस लंड ने चोदा है पर जितना मजा आज आया है, वो मजा मुझे पहले कभी नहीं मिला है।

अंजलि सलीम के मूह से जान शब्द सुन कर चोंक जाती है लेकिन चोन्कने से ज़्यादा शरमा रही थी. अंजलि उसी शर्मीले चेहरे को साइड मे करके होले से बोलती है..लैंड चुस्ती हुई लड़कियां

5 मिनिट के रेस्ट के बाद सलीम जब पायल पर से उठता है तो पायल हल्की हल्की रो रही थी सिसक रही थी. पायल अपनी चूत पर अपना हाथ लगा कर इकट्ठी हो गई और साक्षी की तरफ करवट लेकर सो गई. जिया बिस्तर पर लेट कर अपने टाँग पर टाँग चढ़ाती, अपने तलवों को हिलाती बोलने लगी...... हां कुछ ऐसा ही, इस वक़्त के लिए

नेगी.... बहुत मुश्किल से मैने टेंडर पास करने वाले ऑफीसर और परिवहन मंत्रालय को मॅनेज किया था... अंदर से मैने अपोनेंट

सूकन्या.... ह्म ! तो तय रहा, यदि मनु ने ऐसा कर दिया तो मैं तुम्हारा कहा मान कर, उसे पूरा सपोर्ट करूँगी.,तोंडात फोड येणे कारणे मानस..... ये रिस्क तो हमे उठाना ही था. अब तो इस पार या उस पर. लेकिन हमारे मदद करने के चक्कर मे तुम ने अपनी सारी प्रॉपर्टी भी दाँव पर लगा दिया.

News