गांव की भाभी की सेक्सी फिल्म

चोटी बहु को चोदा

चोटी बहु को चोदा, निशा की ईमेल आइडी सोनम ने बनाई है ये जानकार मैं थोड़ी देर तक इंतज़ार करता रहा कि अब वो मुझे निशा की ईमेल आइडी देगी...लेकिन वो चुप चाप खड़ी मुझे देखती रही और जब कुच्छ देर तक और वो एक लफ्ज़ तक नही बोली तो मैं खीज उठा... जब डार्क नाइट राइज़स डाउनलोड हुई तो हम दोनो लाइब्ररी से निकल कर बाहर आए...हम दोनो पार्किंग के पास से भी गुज़रे,लेकिन तब भी मुझे ये याद नही आया कि एश ने मुझे पार्किंग मे मिलने के लिए बुलाया था क्यूंकी मेरे दिल-ओ-दिमाग़ मे तो कालिया के वो शब्द घूम रहे थे,जो उसने मुझसे लाइब्ररी मे कहे थे....

गालों पे घिर आई बालों की पतली लट को उसने अपने हाथों से हटाने की कोशिश की , मेरी नज़रें उसके उरूजों पर टिक गयीं , झीने गऊन में उसके उरूजों में उभार आया था , मैं पेपर उठाने नीचे झुका तो उसकी नज़र मुझ पर पड़ी , उसने बालों की लट को हटाने की कोशिश की तो रंगोली का सफेद रंग उसकी आँख में चला गया . वो सब तो छोड़अरुण का चेहरा फिर लाल होने लगा, मुझे ये बता कि तूने मुझे कॉल क्यूँ नही किया, कॉलेज मे तो मेरा बेस्ट फ्रेंड बना फिरता था....

साला कल तो एक चम्मच पकड़ते वक़्त तू दर्द से कराह रहा था और आज तो तुझे देखकर लगता है कि अभिच अपने हाथो से मूठ मार लेगा... चोटी बहु को चोदा तुम मुझे नही जानते, याद करो लास्ट एअर मे तुमने मुझे फ़ेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजा था और मैने तुम्हारी फ्रेंड रिक्वेस्ट दो दिन बाद आक्सेप्ट की थी...

बीपी पिक्चर ना वीडियो

  1. बार मतलब वही ना जहाँ शराब बहुत महँगी मिलती है और बड़े-बड़े घरानो की लड़किया छोटे-छोटे कपड़े पहन कर अपनी इज़्ज़त दान करती है....
  2. रोल नंबर. 12....फ़ौजी ने फिर से अपनी स्टॉप . शुरू कर दी और उसी वक़्त अरुण के पास जाकर मैने धीरे से कहा की ...नेवी के बारे मे इससे बात कर...लेकिन पहले प्रॅक्टिकल कॉपी दिखा देना,ताकि उसे शक़ ना हो भाभी की चुदाई सेक्सी बीएफ
  3. अरे मुझे भी इसका आन्सर मालूम करना है, इनको नही बताना चाहते तो मत बताओ...पर मुझे तो बताओ...और उसके बाद विभा ने बड़ा सा प्लीज़ ! कहा.... क्या अरमान भाई...मैं तो सोचा था कि विभा के जाने से आप बहुत खुश होगे...लेकिन ये खबर सुनकर तो आप उल्टा मुझपर ही बरस पड़े...
  4. चोटी बहु को चोदा...रमेश : कोई गारंटी तो नहीं है ना भैया कि मैं ठीक हो जाऊँगा , और माँ का क्या !भैया ये बेकार कि बातें हैं , आप वैसा ही करेंगे जैसा मैंने आपको कहा है !आप अपने भाई के बच्चे के बाप बनेंगे ! पिछले 8 महीने से मैं आपको समझा रहा हूँ , कि आप 'सोना' के साथ सेक्स कर लो और उसको माँ बना दो ! टेन्षन मत ले लवडे...मैने सोचा था कि ऐसा कुच्छ हो सकता है ,इसीलिए अंदर जाने के लिए हाथ-पैर चला सकते है...अरुण को गुस्सा होते हुए देख मैं बोलासौरभ तू अरुण से चिपक कर खड़ा हो जा और अरुण तू मेरी कमर मे अपना एक हाथ डाल और ऐसे बिहेव करो जैसे कि हम तीनो गे हो...
  5. यॅ...आइ नो सिगरेट के पॅकेट से एक सिगरेट निकालते हुए मैने कहा और दिल ही दिल मे एमटीएल भाई का हमारा साथ देने के लिए शुक्रिया अदा किया... क्यूँ ,फट गयी क्या....अबकी बार यही छोड़ दे रहा हूँ लेकिन अब तू शांत नही हुआ तो नेक्स्ट टाइम बाहर तक छोड़ कर आउन्गा...

राजस्थानी लड़कियों की सेक्सी

उनमें सबसे उँची हैसियत बेंद्रे की ही थी इसलिए लोगों से ऐंठा रहता. लोग बाग उसकी अमीरी से काफ़ी जलते और पीठ पीछे खूब गालियाँ देते.

जैसे-तैसे करके हम सबने सुलभ को भी राज़ी कर लिया और जब सब तैयार हो गये तो मैने उन सबको वहाँ कुच्छ देर रुकने के लिए कहा.... तेरी माँ की...तू होता कौन है बे मुझे सही-ग़लत समझाने वाला...शायद तू भूल रहा है कि मैं तेरा सीनियर हूँ...चल जा यहाँ से वरना मैं भूल जाउन्गा कि तू अरमान है और मेरे हॉस्टिल मे रहता है...कहते हुए नौशाद ने मेरा कॉलर पकड़ लिया...

चोटी बहु को चोदा,हमारी दुनिया मे एक कहावत बहुत मश हूर है कि यदि डूबते को तिनके का सहारा मिले तो भी बहुत होता है ,लेकिन मुझे तो आज पूरा का पूरा एक जहाज़ मिल गया था अरुण के रूप मे.....

''अबे इनको हुआ क्या है, कहीं मेरी ज़िप तो नही खुली है '' मन ही मन मे ऐसा सोचकर मैने नीचे देखा ,ज़िप बंद थी...

मुझसे यदि उस वक़्त कोई कुछ और पुछ्ता तो शायद मैं नही बता पाता, लेकिन मेरी कॉलेज मे बीती ज़िंदगी मुझे इस तरह याद थी कि रात को 12 बजे भी कोई उठा के पुच्छे तो मैं उसे बता दूं..सेक्सी वीडियो बीपी बीएफ

अरुण : कॉलेज मे मुझसे मिलने वाला पहला इंसान...जो बिल्कुल मेरे टाइप का है. बस लौन्डे की याददाश्त थोड़ी कम है , जैसे कि इसे कुच्छ बोला जाए कि 'चोदु, ये बात किसी को मत बताना...तो अक्सर ये वो बात जोश-जोश मे दूसरो के सामने बक देता है...और फिर मुझसे गालियाँ ख़ाता है....' तब तक हम दोनो वहाँ बीच रास्ते से हटकर थोड़ा किनारे आ गये, क्लासस चल रही थी इसलिए कोई उधर आए ये मुश्किल ही था.....

तू तो दिल पे ले गया...मैं तो मज़ाक कर रहा था.तू ब्लेज़र निकाल के रख...मैं दो मिनिट मे उसका काम तमाम करके आता हूँ...

नही और मुझे कोई फरक भी नही पड़ता...लेकिन फिर एक सवाल अब है कि तुमने फिर वो लाल साड़ी अपने पास क्यूँ रखी है...,चोटी बहु को चोदा एक काम कर, ये ले मेरा कॉपी तू दिखा देना और सामने वाले पेज पर जो मेरा नाम लिखा है,उसे फाड़ देना...कुच्छ सोचते हुए मैने अपनी कॉपी अरुण के हाथ मे थमा दी.

News