रामनवमी कितने तारीख को है

హిందీ మరాఠీ సెక్స్

హిందీ మరాఠీ సెక్స్, मेरे से भी रुकना अब बहुत मुश्किल था… मैंने अपने लण्ड का सुपारा उसकी बुर के छेद पर रखा और हल्का सा ही दबाव दिया. पार्वती का नाम सुनते ही बाबा फिर गहरे विचार में खो गए। माधो ने रुकते-रुकते पूछा-‘ठाकुर साहब एक बात पूछूं?’

मैं - अरे कोई नहीं , ऐसे बदतमीज मिलते ही रहते हैं, असल मे वहाँ ज्यादातर कपल ही जाते हैं और गलत काम करते हैं मौका देखकर... लड़का- ओह सॉरी मैडम जी… वो मैं समझा इसीलिए… इसका मतलब…सलोनी ने जल्दी से अपनी शर्ट पहनी और… जल्दी जल्दी वहाँ से बाहर निकल गई…मैं और वो लड़का भौंचक्के से उसको जाते देखते रह गए…कि अचानक यह हुआ क्या?

अदिति- जस्ट शटअप.........प्लीज़ तुम अभी यहाँ से चले जाओ......मैं तुम्हारे आगे हाथ जोड़ती हूँ......मेरा और तमाशा यहाँ मत बनाओ.......अगर विशाल को इस बारे में पता लग गया तो पता नहीं वो तुम्हारे साथ क्या सुलूख करेगा...... హిందీ మరాఠీ సెక్స్ विशाल- दीदी आप ठीक तो है ना......मम्मी पापा अभी बाहर गये हुए है......वो दो तीन घंटे बाद वापस आएँगे.......मैं खामोशी सी वही चुप चाप खड़ी रही और विशाल की बातें सुनती रही.....विशाल फिर मेरे बेडरूम में आया और आकर वही बैठ गया मैं भी वही उससे थोड़े दूर पर जाकर बैठ गयी........

बीएफ बीएफ सेक्सी चुदाई

  1. मंदिर में पूजा के घंटे बजने लगे। पार्वती के दिल में भी उथल-पुथल मची हुई थी। जब हरीश की आवाज उसने सुनी तो चौंक उठी।
  2. सलोनी- हाँ भाभी सच… मैं अमित भैया का अहसान कभी नहीं भूल सकती… मुझे बहुत दर्द सहने से बचा लिया था उन्होंने… बीएफ वीडियो फुल एचडी
  3. मैंने उसे घुमा लिया और अपने होंठ उसके होंठो पे रख दिए ,,, शालिनी भी मुझे किस करने लगी और मैं भी उसके नरम मुलायम होंठो को चूसने लगा उसके होंठ चूसते चूसते मैं उसकी टी शर्ट के ऊपर से उसकी पीठ को सहलाने लगा उसे दबाने लगा तभी उसने मेरे होंठ छोड़ दिए और बोली मैं शालिनी को एक अच्छे रेस्तरां में लेकर गया, रात होने से शादी शुदा जोड़े भी थे और कुछ यंग कपल्स,। कुछ लड़कियां बहुत ही एक्सपोज कर रही थी पर मैं एक बार देखकर दूसरी तरफ देखने लगता कि कहीं शालिनी मुझे ना देख ले... लौंडिया ताड़ते हुए!
  4. హిందీ మరాఠీ సెక్స్...शालिनी- अरे देखो भैया … मुझे पता है ये बड़ी हैं और आकर्षक भी… तो नजर चली भी गयी तो क्या हो गया? और वैसे भी तुम मेरे भाई हो … मुझे हर दिन हर तरह से देखते हो … इसमें क्या है,,,,,,, मगर प्लीज़ यार इस तरह टकटकी लगाकर ना देखा करो,,, शरम आ जाती है,, जब वह पहले स्थान पर पहुँचा तो नदी की लहरें उसी प्रकार उतनी भरती जा रही थीं, क्योंकि उनसे खिलवाड़ करने वाला संगी तो जा चुका था।
  5. मुझे लगा वो मुझे नहीं देखेगी पर मेरा दिल ख़ुशी के मारे उछलने लगा जब मैंने उसको तिरछी नजर से अपनी ओर देखते हुए पाया. ज्यों-ज्यों अंधेरा बढ़ रहा था, त्यों-त्यों सीतलवादियों के मुख पर उल्लास की किरण चमकने लगी और लोग मंदिर की ओर चल पड़े। इधर पार्वती शृंगार में मग्न थी। आज उसने अपने को खूब सजाया परंतु उसका हृदय अज्ञात आशंका से धड़क रहा था, यदि मंदिर की सजावट न हुई तो वह बाबा को क्या उत्तर देगी।

नागपंचमी स्टेटस मराठी

पहले तो मैंने सोचा कि चलो जब तक अंकल नहीं आते.. नलिनी भाभी से ही थोड़ा मजे ले लिए जाएँ.. पर मेरा मन सलोनी और अंकल को देखने का कर रहा था…

शालिनी दूसरी बार शहर आयी थी और रास्ते में वो काफी चीजों के बारे मे पूछती रही और मैं बताता रहा, बातें करते करते हम लोग शापिंग माल पहुंच गए, बाइक पार्क करके हम दोनों अंदर आ गए,, अंदर एअर कंडीशन होने से थोड़ा गर्मी से राहत मिली। वो काफी बिंदास होकर डांस कर रही थी, हल्का सा नशा उसको उन्मुक्त बनाये हुए था और ऊपर से मेरी बातों ने उसको काफी बिन्दास कर दिया था…

హిందీ మరాఠీ సెక్స్,शालिनी ने एक व्हाइट कलर की लेगी पहनी हुई थी और उसके अंदर से उसकी प्रिंटेड पैंटी उसकी कामुकता से भरपूर जांघों को छुपाने के बजाय और दिखा रही थी,,,

तो अब मै क्या बोलत, खैर मै उठकर अपने कमरे में चला गया। फिर वाशरूम घुसा, स्नान करते वक़्त सिर्फ ज्योति को सोच रहा था। लेकिन उसकी शादी होने पर मुझे ही परेशानी थी, खैर स्नान करके डायनिंग हाल में घुसा और फिर नाश्ता लेने के लिए किचन चला गया।

मैं तो अभी नंगा ही बैठा था पर उसने अपनी बुर को लांचे से ढक लिया था और मेरे मुरझाते हुए लण्ड को देख हंस रही थी.हिंदी में चुदाई चुदाई

स्वेता- चुप क्यों है....मुझे तेरा जवाब चाहिए.......बता कहाँ गयी थी तू....ऐसा कौन सा काम था जो आज अपने घर हो रही कथा से ज़रूरी था....... मेरे सामने उस लेडी के नंगे चूतड़ दिख रहे थे… मैंने भी उसके चूतड़ अपनी दोनों मुट्ठियों में पकड़ कर दबा दिए और वो लेडी अचानक मेरी और घूमी…

मैं- हर प्राब्लम का सोल्यूशन है बेबी,,, अरे यार कुछ भी बता देना या फिर ऐसा क्यों नहीं करती तुम,,, ये कपड़े उतार कर उस चट्टान पर डाल दो और जब तक ये थोड़ा सूख जाए तब तक हम लोग नहाते हैं,, कम आन यार,,, इतना मस्त नजारा है,,,

मेरे दिल ने कहा- ..हाँ जान सलोनी.. तुम्हारे लिए तो सही समय पर आया हूँ… पर अंकल को देखकर बिल्कुल नहीं लग रहा कि मैं ठीक समय पर आया हूँ … बहुत मायूस दिख रहे हैं बेचारे… उनके चेहरे को देखकर ऐसा ही लग रहा था जैसे बच्चे के हाथ से उसकी चॉकलेट छीन ली हो..,హిందీ మరాఠీ సెక్స్ एक अजीब सी लहर मेरे दिल में उठी जो सीधा मेरे लौड़े पे जाके खत्म हुई... मेरे लन्ड में प्रीकम का पहला बून्द आ गया था...

News