અનુષ્કા સેક્સ વીડિયો

मुलाचा गर्भ कोणत्या बाजूला असतो

मुलाचा गर्भ कोणत्या बाजूला असतो, ओर फिर दीदी मेरे सीने पर दोनों तरफ पेर डाल कर बैठ गई उसकी चूत मेरे मुँह से लगी हुई थी और मैं उसे चाटे जारहा था और अपनी जीभ भी चूत की लाइन पर घुमा रहा था। संस्कारों की एक दीवार थी ....लेकिन बिरजू तो जैसे पागल आवारा.......वो तो रति को छोड़ ही नहीं रहा था.....

चोदो चोदूऊऊ और तेज….और तेज….फाड़ दो आज मेरी चूत…..फक मी फक मी हार्ड …यस यस डू इट……..सूमी ज़ोर से चिल्लाने लगी और जिस तेज़ी से सुनील लंड अंदर घुसाता उसी तेज़ी से वह मेरी इस तरह की बात सुन मस्त हो और कुछ शरमाते हुए बोली, ओह्ह भैया आप कैसी बातें कर रहे हैं? अब देख लिया अब बस अब चलिए आराम से टीवी देखते हैं.

सुनील के लिए कॉफी तयार कर वो कमरे में चली गयी..सोनल कमरे में बैठी मुस्कुरा रही थी…सुनील बाथरूम में था. मुलाचा गर्भ कोणत्या बाजूला असतो तुमारी ऑंखे मम्मी........तुम्हरी ऑंखे कितनी सुन्दर हैं!............ और तुम्हारी नाक........कितनि सुन्दर है...और बालि डालकर तोह इतनी सुन्दर दीखती है के दिल करता है बास चूम लुण..........

हिंदी ऑडियो वीडियो सेक्स

  1. सोनल ने घड़ी देखी …4 बज चुके थे…स्प्रिंग लग गये उसे…फटाफट अपना बॅग पॅक करने लगी और अगले 20 मिनट में तयार भी हो गयी….दीदी आप तो फॅकल्टी में हो …शायद नही आ पाओगि…मैं जा रही हूँ ….और सुमन के गले लग गयी …..होटेल से एरपोर्ट का ही रास्ता 1 घंटे का था ….
  2. सुनील ने ज़यादा वक़्त नही लगाया था --- काउंटर गर्ल तक हैरान थी कि क्या फटाफट ड्रेसस चूज़ करी वरना लोग तो चाय्स करने में आधा दिन लगा देते हैं और ड्रेसस भी क्या पसंद करी थी - एक से बढ़ कर एक. கேரளா லாட்டரி வாட்ஸ்அப் குரூப்
  3. मिनी ...तुम से ये उम्मीद नही थी ....पति पत्नी में मन मुटाव हो ही जाता है कभी कभी ...इसका मतलब ये नही अपनी ईगो को ले कर बैठ जाओ .....सोनल ने सबके सामने ग़लती मानी ना ...जो भी बात थी ....फिर तुम क्यूँ ऐसा कर रहे हो ....बस इतना ही प्यार ...... हां मौसी अब आप उसे चुद्वा दीजिए. वह चुद जाएगी, कह रही थी कि उसे शरम आती है. ओह्ह मौसी उसकी चूत इतनी प्यारी है कि क्या बताऊ.
  4. मुलाचा गर्भ कोणत्या बाजूला असतो...दोनो एक साथ शवर लेते हैं एक दूसरे के बदन से खेलते हुए फिर बाहर आ कपड़े पहनते हैं और सोनल रूम सर्विस को ऑर्डर कर देती है. दोनो फिर सुमन के पास जा कर बैठ जाते हैं .... जो अब तक जाग चुकी थी और कोई नॉवेल पढ़ रही थी. ये कह सुमन ने फोन रख दिया… खाने का कुछ दिल नही था…तो बस थोड़ा दलिया हिबाना लिया अपने लिए और फट से सोनल को फोन किया….
  5. रजनी की साँसे तेज हो गयी दिल की धड़कन बढ़ गयी. उसने झुक के सुनील के होंठों पे अपने होंठ सटा दिए और फिर एक दम हट के कुर्सी पे बैठ गयी. उसका चेहरा पूरा लाल सुर्ख था. फिर उसकी पैंटी को दो-चार बार नाक पर लगा सूँघा और फिर उसे दिखाते हुए उस जगह को खोला जहाँ पर उसकी चूत होती है. उस जगह को देखा तो वह कुछ पीली सी थी. मैंने उस पीली जगह को उसे दिखाते कहा, सिमरन देखो तुम्हारी पैंटी यहाँ पीली है, शायद यहाँ पर तुम्हारा पेशाब लग जाता होगा.

இன்டர்நெட் தமிழ் சொல்

कविता का तो शर्म के मारे बुरा हाल होने लगा क्यूंकी सबकी नज़रें उसे खुद को अंदर तक चीरती हुई महसूस हुई ....एक लड़का खास तौर पे कविता में इंटेरेस्ट लेने लगा था ...पर उसकी नज़रों में वासना नही थी ...चाहत थी...

दोनो औरतों ने मुश्किल से खुद को छुड़ाया और अपने चेहरे पे हाथ रख बैठी रही – दोनो को ही यूँ खुले में चुम्मि देने मे बड़ी शर्म आई थी. ढोँकनी की तरहा दोनो की साँसे फूल चुकी थी….. जिस्म पसीने से तरबतर हो चुके थे…. लेकिन चेहरे पे खुशी ही खुशी थी.

मुलाचा गर्भ कोणत्या बाजूला असतो,क्या मम्मी, अब बस भी करो ... आप अच्छे से जानती हैं, मैं कभी पीछे नहीं हटता, कभी घबराता नहीं हूँ, हमेशा अव्वल आता हूँ राहुल अपने आत्मसम्मान की रक्षा करता है |

इतनी नाराज़गी कि बात भी नही करोगे अपनी मम्मी से? जब राहुल कोई ज्वाब नही देता तो सलोनी उसे फिर से बुलाती है मगर राहुल पहले की तरह बाहर देखता रहता है और अपनी मम्मी को कोई ज्वाब नही देता | सलोनी के होंठो की मुस्कराहट और भी बढ़ जाती है |

तभी सामने से रति आती हुई दिखाई डी .... वो हँसते हुए बोली ...क्या खुसुर फुसुर हो रही है... भाई बेहन मे.....தமிழ் பிளே மூவிஸ்

सोनल की हवा में उड़ती हुई जुल्फे,,, उसके डीप कट खुले टॉप का हवा में फड़फड़ाना….सुनील को मदहोश करने लगा. उसने रात आए हुए फोन पर बात की....उसका दिल सही में टूट चुका था...और लगा जैसे अलका की इस तरह बेरूख़ी से उसे लगा अब उसका यहाँ रहने का कोई मकसद ही नहीं बचा....

‘ लो अभी ठीक कर देता हूँ’ कह कर उसने सुमन के होंठों से अपने होंठ चिपका दिए पर सुमन बिदक गयी – उसकी गोद से खड़ी हो कॉफी का कप ले कर हॉल में चली गयी.

सोनल किचन में चली गयी ……..और सुनील बहुत सीरीयस हो चुका था….ये दूसरा रेप वो भी कॉलेज में….क्या करती है कॉलेज की सेक्यूरिटी……सुनील तब तक चुप रहा जब तक सोनल नही आ गयी….,मुलाचा गर्भ कोणत्या बाजूला असतो वह शर्मकार नीचे देखने लगी तो मैंने आगे कहा, सच सिमरन तुम्हारी चूत की खुश्बू इस पैंटी से कितनी प्यारी आ रही है. हाये इसे चाटने मे बहुत मज़ा आएगा.

News