सेक्स बीएफ देहाती

आरती भाभी की चुदाई

आरती भाभी की चुदाई, भौजी ने मुझे सहारा दे के बैठाया और पानी पिलाया| पर सच में अब मुझ में वो शक्ति नहीं थी की मैं बैठ पाऊँ इसलिए मैं पुनः लेट गया| भौजी: अब मैं आपको छोड़के कहीं नहीं जाऊंगी.... इतने में मेरे फोन में मैसेज आया| मैंने मैसेज पढ़ा तो वो दिषु का था| उसके पास बैलेंस नहीं था और उसने मुझे कॉल करने को कहा था|मैंने तुरंत उसे फोन मिलाया;

मेरे सेठ ने देहरादून मे नया धंधा खोला है ट्रांसपोर्ट का और मुझे मुनीम बना दिया है तनख़्वाह भी पूरे 20000 रुपये देगा मोहिनी – तो फिर शुरू करें अब.. और उसने अपनी गान्ड को धीरे से उपर उठाया, और उसके साडे सात इंच लंबे लंड के सुपाडे तक अपनी चूत के मूह को लाई, और फिरसे धीरे से बैठ गयी…!

चंद लम्हों के बाद ही डॉली के जिस्म ने जैसे ज़ोरदार झटका सा खाया। उसके चेहरे के हाव-भाव भी चेंज हो गए और पूरे का पूरा जिस्म उसका अकड़ गया। आरती भाभी की चुदाई मैं: अगर स्टाफ में मैं किसी के साथ सोती भी हूँ या किसी और का बिस्तर गरम करती हूँ तो मुझे कोई रोकटोक नहीं होगी...

हिंदी में सेक्सी पिक्चर देखने वाली

  1. भोलू: आ...हा...हा.... मेमसाब ये सपना तो नही लग रहा... पर अलग अलग लग रहा है... आपने इस गरीब को छु कर पवित्र कर दिया...
  2. भौजी: आपको क्या लगता है की इस तरह अनशन करने से मैं आपको माफ़ कर दूंगी? आपमें और आपके भैया में सिर्फ इतना फर्क है की उन्होंने मेरी पीठ पे छुरा मार तो आपने सामने से बता के! अब चलो और ये दूध पियो| वीडियो बीएफ सेक्सी फुल एचडी
  3. (क्योंकि आते जाते लोग अब इक्कट्ठा होने लगे थे| दूसरा कारन ये था की मैं नहीं चाहता था की नेहा वो सब सुने...) डॉली की चूची एक बार फिर से चेतन की नज़रों के सामने नंगी हो गई थी। चेतन वहीं पर नहीं रुका और फिर दूसरी चूची को भी बाहर निकाल लिया। वो कमरे में हो रहे अँधेरे का पूरा-पूरा फ़ायदा उठा रहा था और अपने मोबाइल की टॉर्च से डॉली के नंगे जिस्म को देख रहा था।
  4. आरती भाभी की चुदाई...चेतन का हाथ अपनी बहन की बिल्कुल बाहर को निकली हुई ब्रेजियर की तनियों पर गया। वो डॉली की ब्रा की तनियों को आहिस्ता-आहिस्ता छूने लगा और उस पर अपनी उंगली को फेरना शुरू कर दिया। आहिस्ता आहिस्ता उसने अपने हाथ को हरकत देते हुए डॉली की चूचियों की ऊपर रख दिया और हाथ ऊपर रख कर वहीं पर कुछ देर के लिए ठहर गया।
  5. मैं: आज मैंने उन्हें बिना पायल के देख तो पूछा..उन्होंने कहा की उन्होंने पायल और कुछ छुड़ियां बेच के तुम्हें पैसे भेजे...चांदी के पायल के कितने मिलते हैं....? चूड़ियों के फिर भी कुछ मिले होंगे| इसलिए मैंने तुम्हें फोन कर के पूछा| Anyways छोडो इन बातों को और पढ़ाई में मन लगाओ| बापू को घर आया देख कर सौरभ का दिमाग़ बुरी तरह से हिल गया उसने सोचा कि यार अब बापू घर है तो फिर ताईजी सोने आएँगी नही बात कुछ आगे बढ़ नही पाएगी पर उसको क्या पता था कि किस्मत कुछ ज़्यादा ही मेहरबान हो रही है उसपर आजकल, घर का काम समेटने के बाद सुधा ने टॉर्च ली और सौरभ के घर पहुच गयी

सेक्सी फिल्म पूरी एचडी

मैं: तो मुझे कौन सा आता है! मैंने TV में देखा है...एक आधे step आते हैं और आज तो बस मन कर रहा है की आपको बाँहों में लेके किसी Slow Track पे Couple Dance करूँ|

मैं नीचे को जाने लगी और चेतन की टाँगों के दरम्यान आ गई। मैंने चेतन के शॉर्ट्स को नीचे खींचा और उसके अकड़े हुए लंड को अपने हाथ में ले लिया। मैंने चेतन की लंड की टोपी को चूम लिया और बोली- जानू.. तुम्हारा लंड तो पहले से ही तैयार है.. लगता है कि किसी हसीन और खूबसूरत लड़की की ख्वाब ही देख रहे थे? डॉली के जिस्म से चिपकी हुई उसकी चमड़ी के रंग की लेग्गी ऐसी ही लग रही थी.. जैसे कि उसकी चमड़ी ही हो। चेतन ने अपना हाथ आहिस्ता आहिस्ता डॉली की जाँघों पर फिराना शुरू कर दिया और उसकी जाँघों को सहलाने लगा।

आरती भाभी की चुदाई,अन्दर रसोई में बर्तन छोड़ कर उसने बाहर आने में काफ़ी देर लगाई। मुझे पता था कि अन्दर क्या हो रहा होगा.. लेकिन मैं सोफे पर लेटी रही और उठ कर देखने नहीं गई।

मैं: हाँ..कहा था...पर उस वक़्त आप प्रेग्नेंट थे... ऐसे में सुनीता का रिश्ता और वो सब.... आपके लिए कितना कहस्तदाई था ये मैं जानता था| आपको खुश रखना मेरी जिम्मेदारी थी... और मैं नहीं चाहता था की आपकी सेहत खराब हो? इसलिए उस समय मेरा वो कथन बिलकुल सही था...पर अभी नहीं!

मैं: नहीं..नहीं...ऐसा मत बोलो! देखो...आपने कहा था न की आपको मेरी निशानी चाहिए? (मैंने उनकी कोख पे हाथ रखा) तो फिर? उसके लिए तो जीना होगा ना आपको?हिंदी सेक्सी पिक्चर फिल्म वीडियो

भोलू: मेमसाब... बहोत बहोत धन्यवाद... मैं आपका ऋणी हु... मैं आपका नौकर हूँ... बस आप जो कहेंगे... मैं आपका गुलाम हूँ... मुझे आज स्वर्ग मिल गया... मैं.... मेमसाब.... उन दोनों का काम जैसे ही फारिघू हुआ मैं वहाँ खिसक गया, क्योंकी अब दोनों को बाथरूम में ही आना था जिससे वो मुझे देख सकते थे। इसीलिए मैं वहाँ से जिस रास्ते से आया था निकल गया और घर वापिस आ गया।

मैं: आपने तो हद्द से ज्यादा ही ख्याल रखा है... इतना ख्याल रखा की मेरी हालत ख़राब कर दी| आप जाओ और मुझे सोने दो|

उसने थोड़ा उसके सीने पर हाथ रखके रुकने का इशारा किया, और अपने उपर से हटा कर वो उल्टी हो गयी और अपनी चौड़ी गान्ड को अंकुश की आगे करके कुतिया की तरह औंधी हो गयी.,आरती भाभी की चुदाई पिताजी: बहु देखो... अपने बड़े भाई साहब से तो मैं इस बारे में कुछ नहीं कह सकता पर यकीन मानो हमें तुम्हारा हमें माँ-पिताजी कहना बिलकुल बुरा नहीं लगा| ऐसी छोटी-छोटी बातों को दिल से ना लगाया करो|

News