नंगी लड़की की चुदाई

मराठवाड्यात पावसाचा अंदाज

मराठवाड्यात पावसाचा अंदाज, नीरव ने मेरी बात सुनकर 'हाँ' में सिर हिलाया और फिर सोने की कोशिश करने लगा। मैं बाथरूम में से मुँह साफ करके आई, तब तक तो वो सो भी गया था। बुड्ढा - साहब रात के अँधेरे में जंगल का कौन भरोसा, सुना है एक पागल भालू है जो सिर्फ रात में निकलता है | अब तक 20 लोगो को मार चूका है |

रामू- आपकी ये मस्त मलाई जैसी गाण्ड चाटने जा रहा हूँ मेमसाब, जिससे आप फिर से गरम हो जाओगी... रामू ने कहा और फिर से उसने उसी जगह पर चाटा। नीरज: देख वैसे तो मुश्किल है लेकिन फिर भी में कोशिश करूंगा लेकिन तू मेरे और नीरू के बीच में नहीं आएगा।

रीमा पेट के बल बिस्तर पर उल्टा लेट गयी | रोहिणी उसके पीछे आ गयी | रोहिणी ने उसकी गांड पर अपना लंड सटा दिया | रीमा ने कसकर बिस्तर को भींच लिया और पुरे शरीर को कड़ा कर लिया | मराठवाड्यात पावसाचा अंदाज अब्दुल- मैं इनके सामने के फ्लैट में रहता हूँ, हम पड़ोसी हैं.. अब्दुल ने जावेद को कहा, दोनों ऐसे बात कर रहे थे जैसे पहली बार मिल रहे हों।

एक्स एक्स एक्स वीडियो कॉलेज वाली

  1. मैंने जीजू का मोबाइल लगाया, रिंग की जगह उनके मोबाइल में हेलो ट्यून बजने लगी- जिंदगी एक सफर है। सुहाना, यहां कल क्या हो किसने जाना, मौत आनी है आएगी एक दिन, जान जानी है जाएगी एक दिन, ऐसी बातों से क्या घबराना जिंदगी एक सफर है सुहाना, यहां कल क्या हो किसने जाना...
  2. नीरज : ठीक है नीरू एक बार मेरा बच्चा अपने पेट में ले ले तो उसके बाद सोचूंगा। और नीरज प्रशांत से विदा होकर अपनी गाडी में बैठता है और नीरू और ऋतु को लेकर निकल जाता है। प्रशांत सड़क पर खडा रह जाता है। सेक्सी ब्लू बीएफ सेक्सी ब्लू
  3. रीमा ने इसे जैसे अपनी चूत का सवाल बना लिया - असली चोट तो तब लगेगी ( अपने सीने की तरफ इशारा करती हुई ) जब रीमा के पुरे होशो हावश में रहते हुए तुम हाथ से पिचकारी निकालोगे | बाहर के जख्म तो भर जायेगे अन्दर के जख्म कौन भरेगा | रीमा के रहते हुए खड़ा लंड तुमारे हाथ में अच्छा नहीं लगता | लेडी कान्स्टेबल- अभी तक आपके घर से कोई नहीं आया मेडम? उन लोगों की बात खतम हो गई ऐसा लगते ही लेडी कान्स्टेबल ने मुझसे पूछा।
  4. मराठवाड्यात पावसाचा अंदाज...रीमा - दीदी अब इतना कुछ बर्दाश्त कर लिया है तो थोडा और कर लूंगी | कम से कम एक बार पूरा लंड तो घुसेड़ दो | रीमा खीझ गयी – सुबह सुबह लोग परमात्मा का नाम लेते है जुबान पर, और तुम हो पता नहीं क्या क्या अंट शंट गन्दा गन्दा बोल रहे हो, मै नहीं बोलूंगी गन्दा संदा, मुझसे नहीं होगा | तुम्हे जो मर्जी में आये वो करो | वैसे भी मेरी सुनोगे कहाँ | करोगे वही जो तुम्हें पसंद होगा |
  5. रोहिणी - सुन कट्टो लगता है तेरा छेद बहुत जिद्दी है, लगता है खुलेगा नही इतनी आसनी से | रहने दे इसके किस्मत में लंड नहीं है लगता है | जितेश - इसमें मेरी गलती क्या है तुमारी चूत ही मेरे लंड को बाहर नहीं निकलने दे रही है यह खुद ही नहीं चाहती मेरा लंड उसे उसे बाहर आए मैं तो बस तुमारी चूत का गुलाम बनके कर उसे सेवा कर रहा हूं मैडम |

सेक्सी पिक्चर चाहिए सेक्सी पिक्चर सेक्सी पिक्चर

जग्गू चुप हो गया, बाकि दोनों अपने अपने लंड को हिलाने में लगे रहे | रीमा जग्गू का लंड मुठीयाने लगी और फिर धीरे से उसके सुपाडे पर अपनी गीली लिसलिसी जीभ फिराने लगी | जग्गू के लिए ये बिलकुल नया अनुभव था, वो आनंद से सरोबार हो गया - यस्स्स्सस्स्सस रीमा मैडम, आआअह्ह्ह मजा आ गया |

(मै मन में सोचने लगा की कौन लड़की अपनी सहेली को ई लव यू बोलति है। पर मैंने निरु को अभी यह नहीं बताया की मैंने उसका लास्ट सेंटेंस सुन लिया था।) रीमा ने अपने जिस्म को सहलाना शुरू कर दिया | शायद वो भी अनिल से खेलना चाहती थी, उसे नहीं परवाह थी की ये गेम कहाँ जाकर खतम होगा लेकिन फिलहाल वो अभी तो इन सब बातो के बारे में नहीं सोच रही थी |

मराठवाड्यात पावसाचा अंदाज,जग्गू - हाँ मैडम, आपके नाजुक बदन की नरम नरम जांघो का स्पर्श और आपका मोटा लंड .............. ऐसा लग रहा है जैसे जानत में ही पंहुच गया हूँ |

थोड़ी देर के बाद मेरी सांसें भारी होने लगीं, मैंने मेरे दोनों हाथ जीजू के सिर पर रख दिए थे। मैं अब सहला नहीं रही थी, जीजू को ऊपर खींच रही थी।

रामू- वो मैं जाता नहीं मेमसाब, पर आप महेश साहेब को जानती हैं ना, वो यहां से निकल दें तो? इतना कहकर रामू ने चारों तरफ देखा और धीरे से बोला- आधे घंटे बाद जाना था, इसलिए जल्दी आया था पर वो हरामी ने आधे घंटे की माँ चोद डाली, वो नहीं होता तो बैंड बजा के जाता...एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो हिंदी देसी

मै जीभ निकालकर दीदी की चूत चाटने लगा | दीदी की गरम नरम चिकनी चूत चाटने में मुझे बड़ा मजा आ रहा था | दीदी भी मदमस्त होने लगी | उनके मुहँ से मादक आवाजे निकलने लगी | दीदी सी सी सी सी करने लगी थी मुझे लगा कि दीदी को तकलीफ हो रही है मैंने दीदी से मैंने पूछा - दीदी आपको कही दर्द हो रहा है | \ कान्ता की बात पूरी होते ही मैंने उसे खाने को पूछा तो एकाध बार उसने ना बोला फिर वो बैठ गई। खाना खाते ये उसे लगा की खाना कम था तो वो बोली- मैंने तो आपके हिस्से का खाना ले लिया...

नीरु: वो जीजाजी मुझे लेकर परेशान थे। एक बार मेरे पाँव को टच कर चेक कर चुके थे की दर्द कम हो रहा हैं या नहीं, वार्ना हॉस्पिटल में दिखाए। जब की मैं उनको बोल चुकी थी की अब दर्द कम हैं और वो जाकर सो जाए

विजय ने भी रीता के कपड़े नहीं निकलवाए थे, उसने एक हाथ रीता की जीन्स के अंदर डाला हुवा था, और दूसरे हाथ की उंगली रीता के मुँह के अंदर डाल दी थी, जिसे रीता चूसते हुये सिसकारियां ले रही थी।,मराठवाड्यात पावसाचा अंदाज मैंने जीजू का मोबाइल लगाया, रिंग की जगह उनके मोबाइल में हेलो ट्यून बजने लगी- जिंदगी एक सफर है। सुहाना, यहां कल क्या हो किसने जाना, मौत आनी है आएगी एक दिन, जान जानी है जाएगी एक दिन, ऐसी बातों से क्या घबराना जिंदगी एक सफर है सुहाना, यहां कल क्या हो किसने जाना...

News