मारवाड़ी सेक्सी वीडियो डॉट कॉम

ऑनलाईन पैसे कमावण्याचे मार्ग

ऑनलाईन पैसे कमावण्याचे मार्ग, मोम....... आप जैसी सेक्सी लेडी के शरीर मे तो जितने भी छेद है मैं सबको चोद दू......... और ये तो वैसे भी इतना खूबसूरत है...... कुशल रूकने का नाम नही ले रहा था. मोम.... आप ऐसा रिक्ट क्यू कर रही है. सब कुच्छ होने के बाद आप हमेशा ऐसे पेश आती है जैसे मैने ही कोई ग़लती कर दी हो. कुशल फिर से अपना बिहेवियर चेंज करता है

बाहर रात का अंधेरे फेल चुका था. वो घर में चिराग की रोशनी में पढ़ रही थी. चाचा घर पर नही था और चाची कमरे के एक कोने में ही अपनी साडी का परदा बनाए उसके पिछे बैठी नहा रही थी. उसके चाचा चाची का बेटा सो चुका था. सिमरन उसकी जाँघों को सहलाकर बोली: दिखाओ ना अपनी मस्तानी बुर, अब हम दोनों में कैसी शर्म और वो उनको फैलाई, अब प्रीती की पनियायी हुई बुर उसकी आँखों के सामने थी, उसने वहाँ हाथ फेरा और फिर उसने उसको हल्के से मसला, प्रीती उफ़्फ़्फ़्फ़्फ़ कर उठी ,

उसके गेट पे पहुँच कर वो रुक जाती है. उसका गेट खुला हुआ था. प्रीति थोड़ा सा आगे बढ़ती है और देखती है कि कुशल अभी भी बेड पे बैठा हुआ है और मोबाइल मे देख कर कुच्छ सोच रहा है. एक सेक्सी स्टाइल मे प्रीति उसके गेट से चिपक कर बोलती है. ऑनलाईन पैसे कमावण्याचे मार्ग आधे घंटे तक दोनों बहनों ने एक दुसरे एक हर एक अंग को जी भर के चूमा चूसा और आखिर में थक कर बेड पर लेट गयी

सेक्सी पिक्चर इंडियन बीपी

  1. रुक्मणी तो सुबह सुबह ही मंदिर चली गयी थी और रही दरवाज़े की बात, घर में तुम्हारे सिवा कोई और है ही नही तो दरवाज़ा क्या बंद करना. और तुम? तुमसे भला कैसी शरम वो मेरे पिछे से बोली
  2. सिमरन –अरे कहाँ बच्ची,अब तो वो पूरी माल बन चुकी है, एक बार ध्यान से देखिये तो सही सिमरन पंकज को उकसाने की कोशिश कर रही थी ताकि वो उसे कुछ तो बताये अपने और आराधना के बारे में, पर पंकज अभी अपने और आरू के बारे में किसी को भी बताना नही चाहता था मृत्यु पर शोक संदेश hindi
  3. प्रीती तो आज डबल मीनिंग बाते कर रही थी, और जब स्मृति ने कहा कि साथ में खाते है तो उसे लगा कि उसकी मोम उसे कह रही है कि वो दोनों साथ में मिलकर कुशल का लंड अपनी चूत में ले, ये सोचकर ही उसका दिमाग भन्ना गया, और उसके गाल लाल होने लगे किरण:तेरा दिमाग़ तो खराब नही हो गया? ये क्या करने लगी है टू? पेसौं के लिए अपने प्यार, खुशियो सब को कुर्बान कर रही है? और अली का क्या? सौचा है उसके दिल पे क्या बीते गी जब जिसे वो पागलौं की तरहा चाहता है उसके बाप से ही शादी कर लेगी? पागल हो गयी है क्या?
  4. ऑनलाईन पैसे कमावण्याचे मार्ग...राज अपने मुँह से थूक निकाल कर रजनी की गुदा में भर देता है और अपने लंड को अपनी मम्मी की गान्ड के मोटे छेद में लगा कर कस कर धक्का मारता है और रजनी एक दम से आहह आहह करती हुई चिल्लाने लगती है और राज के लंड का मोटा टोपा अपनी मम्मी की कसी हुई गुदा में फस जाता है कोमल- अपने होंठो को अपनी जीभ से गीला करती हुई अपने पापा को अपनी कामुक नज़रो से देखती हुई क्या बहुत लाल है मेरे होंठ
  5. (रश्मि राज के चेहरे को गौर से देखती है और उसकी नज़रे पढ़ने की कोशिश करती है लेकिन तभी राज रश्मि की आँखो में देखता है और एक पल के लिए दोनो की आँखे एक दूसरे से मिल जाती है और दोनो की आँखो से एक दूसरे के लिए चाहत भरी ख्वाहिशे निकालती रहती है.) शायद वो कम्बख़्त काम करने वाली बहुत बोल रही है मनचंदा ने कहा और मेरी खामोशी को देखकर समझ गया के वो सच कह रहा है.

সেক্স ফটো সেক্স ফটো সেক্স ফটো

पूरी क्लीनिंग करि………..?? तू कब से क्लीनिंग करने लगा……….? स्मृति उसकी तरफ सवालो भरी निगाहो से पूछती है.

मालती- कर सकते हो पर अब उसके चूतड़ मुझसे भी ज़्यादा गदराए और भारी हो गये है अगर उसे अपनी गोद में बैठाओगे तो उसके मोटे-मोटे चुतड़ों के स्पर्ष्ह से तुम्हारा लोड्‍ा खड़ा हो जाएगा तब क्या करोगे हमने पूरी मूवी साथ में देखी.. लेकिन मैं मुठ नहीं मार सका.. क्योंकि मेरा छोटा भाई मेरे साथ था। मूवी के बाद हम अपने-अपने बिस्तर पर चले गए.. जो हमारे अलग-अलग बेडरूम में थे। हमने यह तय किया कि हम में से जिसको भी ऐसी कोई मूवी मिली.. तो हम साथ ही देखा करेंगे।

ऑनलाईन पैसे कमावण्याचे मार्ग,पर फिर भी कुशल ने बड़े ही रिलैक्स तरीके से जाकर दरवाज़ा खोला, सामने प्रीती ही थी, प्रीती ने कुशल को देखते ही मन में सोचा कि जरुर पूरी रात मोम की चूत मारी है इसने और अब देखो कितना भोला बनकर खड़ा है

उस आदमी ने कहा तो भी उसके कोई जवाब नही दिया और खामोशी से कदम बढ़ती रही पर वो आदमी भी काफ़ी ढीठ था. पीछे पीछे आता रहा.

बेटे ज़रा फ्रीज़ से आइस देना..... पंकज आराधना से बोलता है. आराधना खड़े होकर फ्रीज़ खोलती है और आइस निकाल कर पंकज को दे देती है.कल्याण नाईट के चार्ट

उफफफफफफफफ्फ़...... कुशल.............आऐईयईईईईईई.........आहह....ऊऊऊऊ प्रीति का दर्द कम होता जा रहा था और मज़ा बढ़ता जा रहा था. उसने मेरी एक नहीं सुनी. और मुझे उठा लिया…और बिस्तर पर प्यार से लेटा दिया. उसका लंड कड़क हो गया था. बहुत ही टन्ना कर फुफकार रहा था…

तो अब.... अब वहाँ सही फील हो रहा है....? पंकज थोड़ा झिझक तो रहा था लेकिन फिर भी पुच्छ ही लेता है.....

पर फिर भी कुशल ने बड़े ही रिलैक्स तरीके से जाकर दरवाज़ा खोला, सामने प्रीती ही थी, प्रीती ने कुशल को देखते ही मन में सोचा कि जरुर पूरी रात मोम की चूत मारी है इसने और अब देखो कितना भोला बनकर खड़ा है,ऑनलाईन पैसे कमावण्याचे मार्ग रश्मि- गुस्सा दिखाते हुए, भैया आप कल भी कुछ कहने के लिए कह रहे थे और आज फिर कुछ कहना चाहते है पर कहते तो कुछ नही, आख़िर बात क्या है, साफ-साफ कहते क्यो नही

News