बड़े बड़े बूब्स वाली सेक्सी वीडियो

फाजील बंद करणे.

फाजील बंद करणे., लाला : देख, जैसे तू अपनी लाइफ में ना जाने कहां - 2 और कैसे-2 मज़े करती है, वैसे ही मुझे भी वो सब करने का हक है...समझी...और रही बात तेरी इस बेटी की तो एक बात कान खोलकर सुन ले...ये तेरी 'बच्ची' कल शाम ही लाला से चुद चुकी है....और इसलिए इसे अब बार-2 बच्ची कहना बंद कर...अब ये समझदार हो चुकी है...'' उसे पता था की खेतो में बने इस ट्यूबवेल वाले कमरे में सभी ने एक बड़ी सी होदी बना रखी है और अक्सर वो उसमें नहा भी लिया करते है,

लाला : आ री निशि आ जा....कैसी है तू....आजकल अकेली ही चली आती है अपनी जोड़ीदार के बिना...पहले तो तुम दोनो एक दूसरे के बिना दिखती भी नही थी...'' एक बार फिर से 'जवान' हो चुकी नाज़िया के लिए ये अपशब्द सुनकर लाला का खून खोल उठा और उसने नाज़िया की चूत से निकला हाथ सीता शबाना के मुँह में ठूस दिया...

और फिर जब राबड़ी सामने हो तो सुखी भाजी किसे अच्छी लगेगी.., मे तो वैसे भी बेडौल हो गयी हूँ, हां तुम्हारे मामले में राबड़ी नही तो रस मलाई तो कह ही सकते हैं..! फाजील बंद करणे. लाला ने अपनी आँखे बंद की और 2-3 लंबी साँसे ली ताकि वो निशि के नंगे शरीर को देखकर अपने प्लान से ना भटक जाए..

तुलसीदास की मृत्यु कब हुई थी

  1. रंगीली के हाथ से झाड़ू छुटकर नीचे गिर चुका था, उसने अपने दोनो हाथों को सेठ के सीने पर रख कर, ज़ोर लगाकर सेठ को अपने से अलग करते हुए बोली –
  2. विक्की ने उसे ये भी बताया की कुछ पिक्चर्स लेने के लिए उन्हे बाहर की लोकेशन्स में भी जाना पड़ेगा, जैसे माल्स, शहर की बौंड्री पर बने खेत और पुराने किले में भी क्योंकि ऐसी जगह का बेकग्रौंड अच्छा आता है पिक्चर्स में.. सेक्सी फिल्म खुली
  3. शंकर ने बिना मुड़े ही कहा – तुझे जो पहन’ना हो वो पहन ले, मे हॉल में जा रहा हूँ, मे यहाँ नही रुक सकता..! लाला अपनी मूँछो पर ताव देता हुआ बोला : तू बड़ी भोली है री सीमा...तुझे तो पता ही नही है की तेरी ये बच्ची जवानी की दहलीज पर कदम रख भी चुकी है और लाला ने इसके बदन को चख भी लिया है...बस वही नही हुआ जो तेरे साथ भी नही कर पाया आज तक, वरना ये भी अच्छे से जानती है की मेरे लंड का स्वाद कैसा है...''
  4. फाजील बंद करणे....उसने अपना ध्यान उन बातों से हटाकर जल्दी जल्दी से नहाना किया और 5 मिनिट में ही अपनी ब्रा और पैंटी पहन कर उपर से तौलिया लपेट कर बाहर आ गई…! लगातार आधे घंटे तक मधु को चोदने के बाद मैंने सुनीता को नीचे लिटाकर उसकी गीली और रसीली चुत चोदने लगा. उस वक़्त सुनीता ने खींचकर मधु को अपने मुँहपर बिठा दिया और सुनीता अपनी जीभ और होठोंसे मधु की चुत और उसकी चुत का दाना चाटती और चूसती रही.
  5. शंकर ने उसे किसी बच्ची की तरह गोद में उठा लिया.., वो अपने पैरों की केँची उसकी गान्ड पर कसते हुए पूरे लंड को अंदर निगल गयी…, कुछ ही मिनटोंमें राज का लंड फिर से खड़ा होकर सारिका के नंगे बदन को जैसे सलामी देने लगा. अब उसने आव देखा न ताव और सारिका की टाँगे अलग कर उसे चोदने लगा. उसकी जोरदार रफ़्तार से सारिका भी चिल्लाकर आहें भरकर आनंद लेने लगी, राज भैया, चोदो मुझे जी भरके चोदो।

योनि कैसी दिखती है

अब मेरे भी सब्र का बाँध टूट गया और मैं उसकी योनि में ही झड़ गया. मैंने अपना लंड बाहर निकलकर कंडोम उतार दिया. पहले तो तान्या ने मेरे लौड़े के ऊपर बचा हुआ वीर्य चाटकर पी लिया, फिर कंडोम को खुद के मुँहे में उल्टा कर अंदर का सारा वीर्य भी पी गयी. फिर उसने मेरी तरफ देख कर आँख मारी.

अपने आधे अधूरे जेठ को उसकी जिंदगी सौंप कर उसी शाम दोनो माँ-बेटे अपने घर लौट आए.., जहाँ उन दोनो के अलावा और किसी को ये भनक तक नही थी कि भोला को ले जाने का असल माजरा क्या था…! और उसे लेकर वो इतनी ज़्यादा उत्साहित थी की अपने और नंदू के बारे में भूल ही चुकी थी, क्योंकि एक बार चुदने के बाद पिंकी भी उसके साथ उस खेल में आने वाली थी

फाजील बंद करणे.,निशि तो पहले से ही मस्ती के सागर में डुबकिया लगा रही थी, पिंकी के जादुई हाथो ने जब सटीक निशाने पर उंगली लगाकर उसके निप्पल्स को उमेठना चालू किया तो वो बिफर ही पड़ी और पागलों की तरह अपने आप को पिंकी के जिस्म पर रगड़ते हुए उसे बुरी तरह से चूमने लगी...

सुनीता ने माधुरी के आंसू पोंछे और फिर राज की नौकरी के लिए सुनीता से सेक्स करने के लिए कैसे मजबूर किया वो कहानी पूरे विस्तार से बतायी.

नंदू देख तो नही पाया पर अपनी माँ की बाहो की हरकत से उसे सॉफ पता चल रहा था की पानी के अंदर वो क्या रगड़ रही है...জাপানি চুদাচুদি

शंकर उसके नितंब शिखरों को अपने पंजों में भरते हुए बोला – हां, मुझे यकीन था कि आज आप ये मौका कभी नही छोड़ोगी…! मैंने कहा, अच्छा, मैं बस बैंक से निकलने ही वाला हूँ. आते हुए रस्ते से मधु के पसंदीदा नमकीन और मिठाई लेते हुए घर पहुँचता हूँ.

शंकर ने अपना दिमाग़ दौड़ाया.., वॉशिंग मशीन होनी तो बाथरूम में ही चाहिए, और ये कामन बाथरूम ही है, तो फिर शायद यही होगी.., ये

वहाँ बगीचे में उसने एक साँप देख लिया था…, उससे डरकर वो मेरे साथ चिपक गयी.., उसी का डर दूर करने के चक्कर में मुझे उसके साथ वो सब करना पड़ा…!,फाजील बंद करणे. ''आआआआआआआआआआअहह.......मेरी ज़ाआाआआआआआअन्न्.....मैं तो गयी रे.......अहह........ओह लाला.................क्या जादू कर गया रे.......अपना लंड दिखाकर अपना गुलाम बना लिया रे तूने ......आआआआआआआआहह''

News